केरल में भारी बारिश के बाद बाढ़ की तबाही, सेना और NDRF की मदद से बचाव कार्य जारी

केरल में भारी बारिश के बाद बाढ़ की तबाही, सेना और NDRF की मदद से बचाव कार्य जारी
New Delhi:  केरल की सरकार ने बताया कि राज्य में भारी बारिश की वजह से आयी बाढ़ की वजह से करीब दस हजार से अधिक लोगों को पिछले दो दिनों में राहत शिविरों में भेजा गया है। साथ ही लोगों को सरकार की तरफ से यह चेतावनी जारी की गयी है कि राज्य के निचले इलाके और बां

पिछले कई दिनों से केरल राज्य में भारी बारिश देखने को मिल रही है। इसके कारण केरल के निचले इलाकों में बाढ़ आने का खतरा मंडरा रहा है।साथ ही कई जगह से भूस्खलन की खबरें सामने आ रही है।वहीं राज्य आपदा नियंत्रण कक्ष ने कहा कि इस वक्त भारी बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं, जिसकी वजह से राज्य के करीब 24 बांधों को खोलना पड़ा और इसके कारण उसके आसपास के इलाकों को रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है, ताकि बाढ़ आने की स्थिती पर वहां से लोगों को हटाया जा सका। वहीं बाढ़ आने की वजह से कुछ जगहों पर पटरियां और सड़क उखेड़ने की घटना सामने आ रही है।


इसी बीच केरल की सरकार ने बताया कि राज्य में भारी बारिश की वजह से आयी बाढ़ की वजह से करीब दस हजार से अधिक लोगों को पिछले दो दिनों में राहत शिविरों में भेजा गया है। साथ ही लोगों को सरकार की तरफ से यह चेतावनी जारी की गयी है कि राज्य के निचले इलाके और बांध वाले इलाकें से दूरी बनाए रखे।

इसी बीच मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए कहा कि आने वाले 24 से 48 घंटे में केरल के कई इलाकों में भारी बारिश देखने को मिल सकती है। ऐसे में लोगों को घरों से बाहर कम निकलने की सलाह दी गयी है। वहीं प्रशासन ने भी भारी बारिश के बाद जल निकासी की उचित व्यवस्था करने के लिए कार्य को युद्धस्तर पर शुरू कर दिया है। साथ ही आपदा प्रबंधन की टीम को अलर्ट पर रखा गया है।

इसके साथ ही पेरियार नदी में बढ़ रहे जलस्तर की वजह से कोचीन के हवाई अड्डे पर भारी मात्रा में पानी  भर गया है। ऐसे में यहां पर मौजूदा समय में विमानों को उतरने पर रोक लगा दी है.