ATM में आई खराबी का प्रोग्रामर ने उठाया ऐसा फायदा, इस तकनीक से पलक झपकते निकाले 7.15 करोड़ रुपए

New Delhi: एक प्रोग्रामर ने उस वक्त ATM से 7.15  करोड़ रुपए निकाल लिए जब ATM मशीन में एक खामी पाई गई।   एटीएम में खामी का फायदा उठाकर एक प्रोग्रामर ने कुछ स्क्रिप्ट इंजेक्ट किए। इसके बाद धीरे-धीरे करोड़ों रुपए निकाल लिए। हैरानी की बात तो यह थी कि इधर ATM से पैसे निकल रहे थे और बैंक वालों को इस बात की भनक तक नहीं लगी। इस खबर ने सबको चौंका दिया है।

ये मामला चीन का है जहां 43 साल के एक प्रोग्रामर ने ATM से 7 मिलियन युआन निकाल लिए। 7 मिलियन युआन को अगर रुपए में बदला जाए तो यह 7.15 करोड़ रुपए होता है। इतने सारे पैसों का निकलना और बैंक को इस बात की जानकारी ना होना हैरान करने वाला मामला है।  ये पैसे Huaxia Bank के एटीएम से  निकाले गए हैं।  जिस प्रोग्रामर ने पैसे निकाले हैं वो भी इसी बैंक का कर्मचारी बताया जा रहा है।  मुमकिन है उस प्रोग्रामर को एटीएम के इंटर्नल बग का अंदाजा होगा जिसका फायदा उठा कर ऐसा किया गया है। इसके लिए प्रोग्रामर को एटीएम में एक स्क्रिप्ट अपलोड करनी पड़ी है।

Qin Qisheng चीन के रहने वाले हैं और वो Huxia Bank में प्रोग्रामर  के तौर पर काम करते हैं। बैंक के सॉफ्टवेयर ने उन्होंने खामी निकाली और इसका फायदा उठाने का फैसला किया। प्रोग्रामर ने यह खामी 2016 के नवंबर में पाई और उसी साल बैंकिंग सिस्टम में उन्होंने कुछ स्क्रिप्ट्स अपलोड कर दीं। उन्होंने दावा किया है कि जो स्क्रिप्ट उन्होंने अपलोड की थी उसकी वजह से वो खामी बिना अलर्ट ट्रिगर किए ही शुरू हो गई। इसके बाद डमी अकाउंट में उन्होंने एक साल से ज्यादा तक 5000 युआन से 20,000 युआन तक निकाले। इसका मकसद वो सिस्टम की टेस्टिंग बताते हैं। जनवरी 2018 तक उन्होंने टोटल 7 मिलियन युआन निकाल लिए हैं।

बैंक ने पुलिस और सरकार की मदद मांगी है और इस प्रोग्रामर पर किसी तरह का चार्ज न लगाने को कहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि बैंक ये नहीं चाहता था कि लोगों को ये पता चले की बैंक के सॉफ्टवेयर में खामियां हैं। हालांकि पुलिस ने बैंक की रिक्वेस्ट नहीं मानी और प्रोग्रामर को 10 साल की स’जा सुनाई और जुर्माने के तौर पर 11000 युआन भी मांगे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *