श्रेया घोषाल…..अपनी सुरीली आवाज में जब गाया ‘जादू है नशा है’,सुनकर मदहोश हो गया था पूरा देश

Quaint Media

New Delhi: जब 5 साल की उम्र में बच्चों को कुछ समझ नहीं होता है। सारा दिन खेलने में निकाल देते हैं। उस उम्र में एक ऐसी लड़की है जिसने सिंगिंग की दुनिया में कदम रखा था। जी हां- ये कहानी एक ऐसी सिंगर की है, जिसने महज 5 साल की उम्र में गायकी का सफर शुरू किया था। जिनकी ना सिर्फ आवाज सुरीली है बल्कि दिखने में भी बेहद खूबसूरत हैं। हम बात कर रहे हैं श्रेया घोषाल की।

श्रेया घोषाल ने अपनी मां से सिंगिंग सीखी थी। 12 मार्च 1984 को पश्चिम बंगाल के ब्रह्मपुर में श्रेया का जन्म हुआ था। श्रेया ने छोटी उम्र में कई अवॉर्ड अपने नाम किए हैं। कल्याण जी आनंद जी से 18 महीने संगीत सीखने के बाद मशहूर रियलिटी शो सा रे गा मा पा से लोगों के दिलों में बसना शुरू कर दिया था। श्रेया का पहला रिकॉर्डेड गाना ‘गणराज रंगी नाचतो’ था। धीरे-धीरे श्रेया की सुरीली आवाज का जादू लोगों के दिलों पर उतरने लगा। और फिर एक दिन…

वो दिन था साल 1995-96। टीवी पर एक शो आ रहा था। शो में 11 साल की एक लड़की ने लता मंगेश्कर का गाना शुरू किया। हिंदी सिनेमा के एक बड़े डायरेक्टर को वो गाना सुनाई पड़ा। डायरेक्टर ने सबसे पहले अपनी जान-पहचान के लोगों को फोन मिलाया और कहा, उस लड़की का पता करो। मेरी अगली फिल्म में गाना वो ही गाएगी। डायरेक्टर थे संजयलीला भंसाली और वो 11 साल की लड़की थी श्रेया घोषाल। भंसाली ने श्रेया को अपनी फिल्म देवदास के लिए सिलेक्ट किया।

Quaint Media

इस एक गाने ने श्रेया को आसमान की बुलंदियों में लाकर बिठा दिया। सेमी क्लासिकल और क्लासिकल म्यूजिक में महारत हासिल करने वाली श्रेया ने जब गाया ‘जादू है नशा है’ और ‘तुम को लेकर चलें’ तो मानों इन गानों की धुन और आवाज ने लोगों को मदहोश कर दिया था। हर दीवानों के दिल को ये गाना छूने लगा। अपनी इस नए अंदाज की गायकी से श्रेया ने खुद को साबित कर दिया था। फिल्मफेयर अवॉर्ड विजेता श्रेया के नाम पर आज भी अमेरिका के ‘ओहियो’ राज्य में 26 जून का दिन ‘श्रेया घोषाल डे’ के नाम से मनाया जाता है। श्रेया ने कई ऐसे प्यार भरे गाने गाए हैं जिसे जब मन करे आप सुन सकते हैं।

2011 में श्रेया ने एक विज्ञापन में काम किया था जो गहनों के ऊपर था और उस स्टोर का नाम जोयालुक्कास था। इस विज्ञापन को हिंदी, तमिल, मलयालम, कन्नड़, और तेलुगु में प्रसारित किया गया था। श्रेया ने कई भाषाओँ में गाना गाया है। बंगाल, हिंदी, तमिल, तेलगु, कन्नड़ और मलयालम। कुल मिलाकर कहें तो सुरीली आवाज का मतलब है श्रेया घोषाल है। लिंक पर क्लिक कर सुनिए श्रेया का जादू है नशा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *